Facebook Hack: वर्तमान में एक नई फ़िशिंग तकनीक हैकर्स के बीच उपयोग में है, जिसका उद्देश्य आपके फेसबुक (Facebook) पासवर्ड को चुराना है। जिसमें कंपनी के फेसबुक पेजों के प्रशासक भी शामिल हैं। साइबर सुरक्षा शोधकर्ताओं ने इस हैकिंग तकनीक की व्याख्या की है। उन्होंने कहा कि यह घोटाला ‘फेसबुक टीम’ की ओर से होने का दावा करने वाले फ़िशिंग ईमेल से शुरू होता है। ईमेल में लिखा है कि किसी अन्य उपयोगकर्ता के अधिकारों के उल्लंघन के रूप में पोस्ट करने के कारण उपयोगकर्ताओं के खाते बंद हो सकते हैं।

ये होता है हैकिंग का पूरा मामला: Facebook Hacking

पीड़ित उपयोगकर्ता को रिपोर्ट के खिलाफ अपील करने के लिए एक लिंक पर क्लिक करने के लिए कहा जाता है, जो बाद में एक फेसबुक पोस्ट पर ले जाती है जो कि किसी अन्य वेबसाइट के लिंक का घर होता है। ‘अपील’ करने के लिए, उपयोगकर्ता को अपनी व्यक्तिगत जानकारी जैसे कि उनका नाम, ईमेल आईडी और फेसबुक पासवर्ड प्रदान करने के लिए भी कहा जाता है जो सीधे हमलावर को भेजा जाता है।

ये भी पढ़े:जानिए आपकी Social Media Apps, कितना रखती हैं आपकी privacy का ख़याल.

Facebook Hacking

यदि उपयोगकर्ता अन्य वेबसाइटों या ऐप्स तक पहुंचने के लिए अपनी फेसबुक ईमेल आईडी और पासवर्ड का एक बार फिर से उपयोग करता है, तो ये जानकारी भी हैकर्स तक पहुंच जाती है। यानी की ये हेकिंग तकनीक आपकी प्राइवेसी पर एक बड़ा सवाल खड़ा करती है।

ये भी पढ़े:Covid-19: कोविड के दौरान इन ऐप्स का हुआ सबसे ज़्यादा इस्तेमाल, देखें लिस्ट!

भाषा के ज़रिए ईमेल में किया जाता है घोटाला:

ईमेल की भाषा पीड़ित में डर पैदा करने के लिए डिज़ाइन की गई है, जिससे उन्हें डर लगता है कि वे अपना खाता ज़ब्त कर लें। किसी कंपनी के लिए इस तरह का संदेश भेजने की अत्यधिक संभावना नहीं है। अगर इस तरह का कोई ईमेल आपको परेशान करता है तो अपील के लिए अपना पासवर्ड साझा करने के बजाय, अपने अकाउंट को लॉग इन करें और अपने खाते की जांच करें। सारी जानकारी वहां उपलब्ध होगी।

ये भी पढ़े:महासेल: iPhone 13 पर मिल रहा जबरदस्त छूट! फिर नहीं मिलेगा मौका

Facebook Hacking

हैकिंग पर क्या है फेसबुक का कहना?

फेसबुक के सहायता केंद्र का कहना है कि जिन उपयोगकर्ताओं को संदेह है कि उनका खाता हैक किया जा रहा है, उन्हें इसकी रिपोर्ट करनी चाहिए और अपना पासवर्ड बदलना चाहिए। उन्हें किसी भी ऐसे डिवाइस से लॉग आउट करना भी सुनिश्चित करना चाहिए जिसे वे नहीं पहचानते हैं।

Facebook

ये भी बोला गया है कि उपयोगकर्ता खाता सुरक्षा बढ़ाने के लिए मल्टी-फैक्टर ऑथेंटिकेशन का इस्तेमाल करें। बता दें, ZDNet ने Google से भी संपर्क किया और उन्होंने पुष्टि की कि फ़िशिंग अभियान के हिस्से के रूप में इस्तेमाल किया गया जीमेल खाता अब हटा दिया गया है।

क्या है Facebook और इसके फायदे और नुकसान:

फेसबुक सबसे प्रसिद्ध सोशल नेटवर्किंग साइटों में से एक बन गया है। जहां इसने बहुत से व्यक्तियों और व्यवसायों को अपना ब्रांड बनाने में मदद की है, वहीं इसका उपयोग गलत गतिविधियों के लिए भी किया जा रहा है।

Facebook के लाभ

फेसबुक वर्तमान में धीरे-धीरे वृद्धि देखने को मिल रही है जहां उपयोगकर्ताओं की संख्या एक अरब तक पहुंच गई है। यह अपने करीबी लोगों के साथ वीडियो कॉलिंग और बिना किसी शुल्क के अपनी तस्वीरें और वीडियो अपलोड करने जैसे कई लाभों के साथ आता है। सबसे महत्वपूर्ण बात, यह आपको एक पैसा खर्च किए बिना दुनिया के दूसरी तरफ के लोगों के संपर्क में रहने की अनुमति देता है। यह पुराने स्कूल के दोस्तों और कॉलेज के दोस्तों से जुड़ने का भी एक शानदार तरीका है। इसके अलावा आप इस प्लेटफॉर्म के जरिए नए दोस्त भी बना सकते हैं। जब आप दुनिया भर के लोगों से जुड़ते हैं, तो यह विभिन्न देशों की नई संस्कृतियों, मूल्यों और परंपराओं के बारे में सीखने के द्वार खोलता है।

यह भी पढ़ें:- क्या वाकई Motorola Edge 30 दुनिया का सबसे पतला 5G स्मार्टफोन होगा?

यह आपको ग्रुप डिस्कशन और चैटिंग के लिए फीचर भी देता है। अब, फेसबुक भी उपयोगकर्ताओं को अपनी साइट के माध्यम से अपने उत्पादों या सेवाओं को बेचने की अनुमति देता है। यह बिक्री बढ़ाने और अपने व्यवसाय को ऑनलाइन स्थापित करने का एक शानदार तरीका है। इस प्रकार, यह आपको नई लीड और क्लाइंट देता है। फेसबुक विज्ञापन आपको अपने व्यवसाय का विज्ञापन करने और विशेष रूप से अपने दर्शकों को लक्षित करने में मदद करते हैं। सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि यह सूचना और समाचार का एक बड़ा स्रोत भी है। यह दुनिया में नवीनतम घटनाओं के साथ अद्यतन रहने और नवीनतम अपडेट प्राप्त करने के लिए लोकप्रिय प्रशंसक पृष्ठों की सदस्यता लेने में मदद करता है।

Facebook

Facebook की कमियां

हालांकि यह कई फायदे देता है, लेकिन यह आपको कई कमियां भी देता है। सबसे पहले, यह आपकी गोपनीयता से काफी हद तक समझौता करता है। इसी मुद्दे को लेकर कई मामले दर्ज किए गए हैं। इसके अलावा, यदि आप इसे ऑनलाइन बैंकिंग और अधिक के लिए उपयोग करते हैं तो आपको चोरी का खतरा है। इसी तरह यह वायरस अटैक भी देता है। एक हानिरहित प्रतीत होने वाला लिंक आपके कंप्यूटर में बिना आपको जाने वायरस को सक्रिय कर सकता है। इसके अलावा, आपको फेसबुक के कारण स्पैम ईमेल भी मिलते हैं जो कई बार निराशाजनक हो सकते हैं। सबसे बड़ा नुकसान चाइल्ड पोर्नोग्राफी का है। यह बहुत सारी अश्लील तस्वीरों और वीडियो तक पहुंच प्रदान करता है।

बहुत सारे हैकर्स फेसबुक का इस्तेमाल लोगों की निजी जानकारी को हैक करने और उससे हासिल करने के लिए भी करते हैं। एक और बड़ी कमी फेसबुक की लत है । यह एक रसातल की तरह है जो आपको अंतहीन स्क्रॉल करता है। आप वहां पर इतना समय बर्बाद कर देते हैं कि यह महसूस किए बिना कि यह आपके जीवन की उत्पादकता को देने से ज्यादा आपसे छीनकर आपके जीवन की उत्पादकता को बाधित करता है।